The Women Post

STAY INFORMED STAY EMPOWERED

21 दिनों के लॉकडाउन से जुड़ी अहम बातें

1 min read

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में कोरोना वायरस के बढते संक्रमण के मद्देनजर, 24 मार्च रात बारह बजे से पूरे देश को लॉकडाउन करने का ऐलान किया है।  इस दौरान एक नागरिक के तौर पर आप क्या कर सकते हैं और क्या नहीं, आपको इसकी जानकारी देते हैं :

देश में किसी भी बड़ी आपदा या फिर महामारी की स्थिति में लॉकडाउन किया जाता है। यह एक इमरजेंसी प्रोटोकॉल है। इस दौरान लोगों को अपने घरों से बाहर निकलने की मनाही होती है।

तो भारत में लॉकडाउन के दौरान आप जरूरत के सामान जैसे कि राशन, दवा आदि के लिए ही घर से बाहर निकल सकते हैं। अनावश्यक आप घर से यूं ही घूमने- फिरने नहीं निकल सकते।

इस दौरान  देश भर के अस्पतालों की आपातकालीन सेवा चालू रहेगी।

आप एटीएम मशीनों से आवश्यक उपयोग की राशी निकासी के लिए घर से बाहर निकल सकते हैं।

लॉकडाउन के दौरान सभी स्कूल एवं दफ्तर बंद रहेंगे। कुछ सरकारी दफ्तरों जैसे कि बिजली विभाग, अग्निशमन विभाग, जन वितरण प्रणाली एवं जल आपूर्ति विभाग की आपातकालीन सेवाएं जारी रहेंगी ताकि नागरिकों को मूलभूत सेवाओं की दिक्कत ना हो।

सभी धार्मिक स्थलों जैसे कि मंदिर, मस्जिद, चर्च, गुरुद्वारे में जनता का प्रवेश पूरी तरह वर्जित होगा। देश के सभी मॉल, जिम, पार्लर, सिनेमाघर, एवं पार्क आदि बंद रहेंगे।

किसी भी प्रकार का सामाजिक, राजनैतिक, धार्मिक, सांस्कृतिक, शैक्षिक एवं खेल से जुड़ा कार्यक्रम नहीं किया जा सकता।

श्राद्ध कर्म के लिए भी 20 लोग से ज्यादा एकत्र नहीं हो सकते।

अगर आप 15 फरवरी 2020 के बाद भारत के बाहर किसी देश का दौरा कर लौटे हैं तो स्थानीय चिकित्सा अधिकारियों द्वारा दिए गए घर पर रहने के निर्देश( Quarantine) का पालन करना पड़ेगा।

तो आप भी सुनिश्चित करें कि लॉकडाउन के नियमों का पालन करेंगे क्योंकि यह आपकी सुरक्षा के लिए ही है। लेकिन अगर आप उपरोक्त नियमों का उल्लंघन करते पाए जाते हैं तो भारतीय दंड संहिता की धारा 188 और आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 के अनुच्छेद संख्या 50-60 के तहत आपको दंडित किया जा सकता है।    

error

Enjoyed Being Here! Spread The Word